DM का फुल फॉर्म क्या है? | DM परिभाषा और अर्थ in Hindi

DM के बारे मे अन्य जानकारी से पहले हम इसके फूल फॉर्म को जान लेते हैं, DM का फुल फॉर्म District Magistrate होता हैं ।

DM KA full form

सरकार देश, राज्य और जिले में कई सारे लोगों को नियुक्त करती हैं ताकि देश का प्रशासनिक गतिविधियां पूर्ण रूप से चल सके । 

हमने हमेशा DM सुना हैं, मगर हम हम dm के बारे में बहुत कुछ नहीं जानते, जैसे उसका फुल फॉर्म, dm कैसे बना जाता है, उनका काम क्या है, जैसे बहुत सारे सवाल हैं, मगर आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम dm के बारे में सभी तरह की जानकारियां हासिल करेंगे । 

DM का फूल फॉर्म क्या हैं?

DM के बारे मे अन्य जानकारी से पहले हम इसके फूल फॉर्म को जान लेते हैं, DM का फुल फॉर्म District Magistrate होता हैं । 

DM क्या होता हैं? 

DM जिसको हम District Magistrate के नाम से जानते हैं, वो एक प्रशासनिक अधिकारी होता है, जिसे हम IAS भी कहते हैं । भारत के एक जिले का सारी प्रशासनिक कार्यभार संभालता हैं, dm एक वरिष्ठ अधिकारी होता हैं । 

भारत के लगभग 718 जिले हैं उन सभी जिले का एक प्रमुख अधिकारी DM कहलाता हैं । एक dm को प्रशासन के नीचे आने वाली जितनी भी कार्यालय हैं जैसे – तहसील, ब्लॉक, उन सभी की सहायता मिलती हैं । 

जिला मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी 1 जिले मे प्रमुख कार्य करता हैं, उस जिले की सभी जिम्मेदारी उस पर होती हैं । 

हम जिलाधिकारी को जिला का प्रधान भी के सकते हैं जो जिले के अंदर सभी तरह के काम, अधिकारी और एजेंसी को सुचारू रूप से संभालता हैं । 

DM का फुल फॉर्म
DM का फुल फॉर्म

DM की जीमेदारिया क्या हैं?

अगर बात करे की DM की क्या जिम्मेदारियां होती हैं, तो हम देखते हैं – 

  1. जिले के सभी कानून व्यवस्था को बनाए रखना । 
  2. पुलिस के सभी कार्यों को नियंत्रित और निर्देशित देना। 
  3. जिले मे हुए सभी प्रकार के कार्य और अपराध की रिपोर्ट सरकार तक भेजना । 
  4. जिले मे हो रहे सभी कार्यों का निरीक्षण करना । 

सभी प्रकार के प्रशासनिक कार्यों को सही से होते रहने के लिए एक dm अपने सभी ब्रांचेज, offices, और कार्यालय पर नजर रखता हैं । 

अन्य उपयोगी फुल फॉर्म विषय हिंदी में :-

  1. PIN Full Form
  2. UPI Full Form

DM कैसे बने? 

बहुत सारे लोगों का सवाल रहता हैं की dm कैसे बने, मगर इसका बहुत ही आसान जवाब हैं, dm बनने के लिए upsc परीक्षा को pass करना होता है, जब आप upsc मे 100 रैंक के अंदर आप आ जाते हैं तब आपको dm बनने का मौका मिल जाता हैं । 

IAS बनने के बाद आप एक दो पद के बाद आप DM  बन जाते हैं । मगर आप जिला का चयन नहीं कर सकते । 

DM बनने के लिए age लिमिट क्या हैं?
  • अगर आप किसी general category से नाता रखते हैं तब आपकी उम्र 21-30 तक होती हैं । 
  • अगर आप OBC category से हैं तब आपकी उम्र 21-33 तक होनी चाहिए, क्युकी obc को 3 साल की छूट मिलती हैं । 
  • अगर आप ST/SC category से आते हैं तब आपकी उम्र 21-35 साल होती चाहिए । 
DM के लिए योग्यता 

अगर आप DM बनना चाहते हैं तब आपके पास ग्रैजवैशन की डिग्री होनी चाहिए, फर्क नहीं पड़ता की डिग्री किस स्ट्रीम से हैं, ग्रैजवैशन के बाद upsc exam देने मे समर्थ होंगे । 

UPSC की तैयारी कैसे करे? 
  • अगर आप upsc exam देना चाहते हैं तो पहले आपको सबसे पहले strategies बनानी पड़ेगी, इसमे आप expert लोगों की सहायता ले सकते हैं । 
  • अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए आपको books और newspaper को पढ़ना होगा । 
  • इसके साथ साथ आपको कानून की जानकारी होनी चाहिए । 
  • आपको exam के बारे मे अच्छे से जानकारी लेनी पड़ेगी, सभी तरह के question papaer को समझना पड़ेगा । 
  • आप चाहे तो इंटरनेट का इस्तेमाल भी कर सकते हैं । क्युकी आज के युग मे बहुत सारी जंकारिया internet पे आसानी से मिल जाती हैं । 
DM के काम क्या हैं? 
  1. criminal court को conduct करना । 
  2. कानून व्यवस्था को बनाए रखना । 
  3. police के साथ co-ordinate करना । 
  4. सारे तरह के प्रशासनिक आदेश देना । 
  5. सारे बिल पास करने की जिम्मेदारी । 
  6. Jail, police station और बलग्रह को निरक्षण करना । 
  7. arm act के तहत हथियार का licence देने का काम । 
  8. सभी तरह के हिंसा को रोकना । 
DM का वेतन कितना होता हैं?

अगर बात करे की एक DM को कितना वेतन मिलता हैं, तब इसका जवाब आता हैं 75000-1.5 लाख, इसके साथ उन्हे बहुत सी सुबिधा भी मिलती हैं जैसे घर, गाड़ी, आदि । 

DM बनने की प्रक्रिय क्या हैं । 

अगर आप DM बनना चाहते हैं, तो आपको upsc इग्ज़ैम को pass करना होता हैं, इसके लिए बहुत सारे steps हैं। 

  • प्रारम्भिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार

प्रारम्भिक परीक्षा

upsc exam का पहला exam जिसे दो पेपर होते हैं, पहले paper मे 100 प्रश्न पूछे जाते हैं, दूसरे मे 80 प्रश्न पूछे जाते हैं और दोनों ही पपैर 200-200 अंकों का होता हैं, जब आप इस परीक्षा को पास कर लेते हैं तब आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता हैं । 

मुख्य परीक्षा

जो भी प्रारम्भिक परीक्षा को पास कर लेता हैं उसे मुख्य परीक्षा देने के लिए बुलाया जाता हैं, इसमे 9 paper होते हैं, जो की 1750 अंकों का होता हैं । merit list 7 के आधार पर चयन किया जाता हैं, बाकी के दो पेपर बास पास करने के लिए होता हैं, मुख्य परीक्षा को पास करने के नाद आपको अगले exam के लिए बुलाया जाता हैं । 

साक्षात्कार

जो भी मुख्य परीक्षा को pass करते हैं उन्हें साक्षात्कार का मौका मिलता हैं, इसमें आप से बहुत सारे सवाल पूछे जाते हैं, और आपको उत्तर देना होता हैं, इस चरण को पर करते ही आप एक IAS बन जाते हैं। 

DM के अन्य फुलफॉर्म – 

  • Dual Mode
  • Dust Mites
  • Direct Mail
  • Drink maker
  • Debit margin
  • Duel Masters
  • Digital Media
  • Domain Model
  • Direct Mail
  • Digital Media
  • Duel Masters
  • Device Manager
  • Depeche Mode
  • Diamond Mine
  • Device Manager
  • Diabetes Mellitus
  • Display message
  • Direct Marketing
  • Decision Maker
  • Docking Module
  • Direct Modulation
  • District magistrate
  • Distinguished merit
  • Discrete Mathematics
  • Disease Management
  • Discussion Meeting
  • Document Management
  • Development Manager
  • Dystrophia Myotonica
  • Doctor of Management
  • Decision Memorandum
  • Director of Management etc.
  • Discrete Mathematics
  • Disease Management
  • Document Management

दोस्तों ये थी कुछ बातें थी, DM से रिलेटेड, आशा हैं आपको dm पर सभी सवालों का जवाब मिल गया होगा । अगर आपको किसी तरह का कोई समस्या आती हैं तो comment जरूर करें।

अन्यउपयोगीफुलफॉर्मविषयहिंदीमें :-

  1. NCB Full Form
  2. Full Form FIFA

Leave a Reply