NCERT का फुल फॉर्म क्या है? | NCERT का परिभाषा और अर्थ in Hindi

NCERT का फुल फॉर्म National Council of Educational Research and Training होता हैं, इसके साथ अगर हम बात करे की इसका हिन्दी मे मतलब क्या हैं

NCERT

हम सभी ने कभी न कभी NCERT के बारे मे सुना जरूर है, अगर आप छात्र हैं तब तो ये शब्द आपके लिए बहुत जरूरी हैं, आप इसके बारे मे ज्यादा तर बाते जानते होंगे, मगर क्या आपको इसके बारे मे सब कुछ पता हैं?

अगर आपका जवाब न हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं हैं, क्यूंकी इस आर्टिकल के माध्यम से आज आप NCERT के बारे मे सब कुछ जान जाएंगे, इसका फुल फॉर्म, ये क्या हैं, और इसका उद्देश्य क्या हैं, इसे बहुत सी जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से आपको दी जाएगी। पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को ध्यान से पढिए । 

NCERT का फुल फॉर्म क्या हैं?

सबसे पहले हम इसका फुल फॉर्म के बारे मे जान लेते हैं, NCERT का फुल फॉर्म National Council of Educational Research and Training होता हैं, इसके साथ अगर हम बात करे की इसका हिन्दी मे मतलब क्या हैं तो इसका हिन्दी मे मतलब होता हैं – राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद । 

NCERT का फुल फॉर्म
NCERT का फुल फॉर्म

NCERT क्या हैं?

भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा बनाया गया एक संगठन हैं, जिसके तहत शिक्षा संबंधी सूचना तथा शैक्षिक ट्रेनिंग दी जाती हैं । ताकि हमारी एजुकेशन सिस्टम को आसानी से मैनेज किया जा सके । 

एनसीईआरटी भारत सरकार के societies registration act के तहत स्थापित किया गया हैं। ये भारत मे साहित्यिक, वैज्ञानिक, और धार्मिक से संबंधित एक संगठन हैं । 

एनसीईआरटी भारत मे 1-12 तक के सभी छात्रों के लिए विभिन्न भाषा मे कितने प्रकाशित करता हैं। 

अन्य उपयोगी फुल फॉर्म विषय हिंदी में :-

  1. PIN Full Form
  2. UPI Full Form

NCERT का इतिहास 

एनसीईआरटी भारत सरकार द्वारा 1961 मे बनाया गया था, जिसे एक संगठन के तहत माना गया, इसका गठन इस लिए किया गया ताकि शिक्षा से जुड़े सभी मामलों, विचारों, और सूचना पर ध्यान दिया जा सके । 

भारत के 7 राष्ट्रीय केन्द्रीय सरकारी शिक्षा को मिलकर NCERT का गठन हुआ, जो पहले से ही भारत मे काम किया करते थे, उन सभी 7 राष्ट्रीय सरकारी शिक्षा संस्थान के नाम नीचे दिए गए हैं । 

  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन
  • सेंट्रल ब्यूरो ऑफ टेक्स्टबुक रिसर्च
  • सेंट्रल ब्यूरो ऑफ शैक्षिक और व्यावसायिक मार्गदर्शन
  • माध्यमिक शिक्षा के विस्तार कार्यक्रम निदेशालय
  • मूल शिक्षा संस्थान नेशनल इंस्टीट्यूट
  • नेशनल फंडामेंटल एजुकेशन सेंटर
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ऑडियो-विजुअल एजुकेशन

एनसीईआरटी के बनने के बाद राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिभा खोज का गठन किया गया । जिसका मकसद देश के वो सभी प्रतिभाशाली छात्रों का सहयोग करना था, और उन्हे आगे बढ़ने मे मदद करना था । 

NCERT का उदेश्य 

बहुत जरूरी हैं की हमे पता हो की एनसीईआरटी का उद्देश्य क्या था, नीचे कुछ पॉइंट के माध्यम से इसे बताया गया हैं – 

  1. देश मे शिक्षा का अस्तर को बढ़ाना, और गुणवत्ता लाना । 
  2. भारत सरकार द्वारा शिक्षा और समाज का कल्याण मे शिक्षा के संबंध मे सलाह देना, और मदद करना शिक्षा नीति को निर्धारित करने मे । 
  3. देश मे होने वाले सभी शिक्षा के अनुसंधान को बढ़ावा देना, और मदद करना । 
  4. शिक्षा मे होने वाले बदलाव को को लागू करना, इसके साथ देश के विकास मे सहयोग करना । 
  5. स्कूली शिक्षा, पढ़कर्म, समाचार पत्र, और साहित्य को प्रकासित करना । 
  6. देश के शिक्षा विभाग शेकशिक संगठन, विद्यालओ, का सहयोग करना । 
  7. नए प्रकार के शैक्षिक तकनीक, प्रथाओं, और साहित्य का प्रचार करना । 
  8. बचपन की शिक्षा देना । 
  9. लड़कियों को बाल सिक्षा । 
  10. सभी शिक्षकों के शिक्षा मे सुधार । 
  11. सभी छात्रों के विचार मे बदलाव लाना । 

NCERT के कार्य 

  • सिक्षा से जुड़े सभी सभी प्रकार के सेवा को उपलब्ध करना हैं, इसके साथ देश के सभी बच्चों को मार्गदर्शन देना, और प्रोतहीत करना हैं । 
  • समय समय होने वाले बदलाव मे देश का सहयोग करना, शिक्षा के मार्ग मे नई नई तकनिकियों को बढ़वा देना, और मार्गदर्शन करना ।
  • पूरे देश मे शिक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करना ताकि लोग शिक्षित हो पाए, और देश समाज बदल सके। 
  • नए तकनीक और वैज्ञानिक धरिस्टिकों को बढ़ावा देना, शिक्षा के मार्ग मे सभी तकनीक का समर्थन करना। 
  • शिक्षा के ट्रेनिंग को प्रोत्साहित करना, और शिक्षा के कार्यकर्ताओं का सहयोग  करना ताकि शिक्षा मजबूत हो सके देश का । 
NCERT और CBSE मे अंतर 
  1. एनसीईआरटी एक  राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद हैं जिससे सरकार द्वारा बनाया गया था 1961 मे, मगर सीबीएसई एक बोर्ड हैं जिसे सरकार द्वारा संचालित किया जाता हैं । 
  2. एनसीईआरटी के द्वारा केंद्र और राज्य के सभी स्कूल मे शिक्षा से संबंधित सलाह, सूचना, और सहयोग दिया जाता हैं, और CBSE शिक्षा से संबंधित सारे नियमों को निर्धारित करती हैं । सीके साथ साथ परीक्षा का आयोजित करती हैं। CBSE का काम पाठ्यक्रम मे होने वाले बदलाओ को निर्धारित करना हैं । 
  3. एनसीईआरटी द्वारा कोई भी शिक्षण संस्थान नहीं चलाया जाता, मगर सीबीएसई द्वारा चलाया जाता हैं। इसके साथ साथ cbse अपने साथ दूसरे स्कूल को जोड़े रखता हैं । 
  4. एनसीईआरटी के आधार पर पुस्तक प्रकाशित किए जाते हैं जो upsc, ssc, neet, जैसे परीक्षा मे आते हैं। मगर सीबीएसई खुद के बनाए पाठ्यक्रम को follow करता हैं, और परीक्षा मे आयोजित करता हैं । 

दोस्तों ये थी कुछ महत्वपूर्ण बातें ncert को लेकर आशा हैं आपको आपके सभी सवालों के जवाब मिल गए होंगे, अगर आपको किसी तरह का कोई समस्या आती हैं तो comment जरूर करे । 

अगर आपको लगता हैं ये आर्टिकल से आपके दोस्तों या रिश्तेदारों को लाभ पहुँच सकता हैं तो उन तक share जरूर करे । जय हिन्द ।

अन्य उपयोगी फुल फॉर्म विषय हिंदी में :-

  1. NCB Full Form
  2. Full Form FIFA

Leave a Reply